Skip to content

कागी चार्ट क्या है और इसका उपयोग कैसे करें?

जब कागी चार्ट प्राय स्वीकार्य चार्ट प्रकारों की तुलना में कम प्रसिद्द है, यह बाजार के अस्तव्यस्तता को फ़िल्टर करता है और ट्रेडरों को मूल्य उतार-चढ़ाव को अधिक आसानी से समझने में मदद करता है। इसके अलावा, यह संभावित रूप से अनुकूल बाजार प्रवेश बिंदुओं का भी संकेत देता है, जो प्रभावी रूप से एक ट्रेड के संकेत देने वाला साधन के रूप में कार्य करता है।

प्रिय ट्रेडर, आप चार्ट पर चिह्नित शब्दों और निश्चित स्थान द्वारा ब्लॉग के टेक्स्ट के साथ अंतर्क्रिया कर सकते हैं।

डैश किया हुआ नीले रंग का शब्द पर टैप करने से आपको इसकी परिभाषा या स्पष्टीकरण दिखाई देगा।

चार्ट या इमेज पर हरे रंग के बिंदु पर दबाने से आपको दृश्यात्मक स्वरूप में अतिरिक्त विवरण मिलेगा।


विषय वस्तु


कागी संकेतक की उपयोगिता

समय के बजाय, कागी चार्ट ट्रेंड-प्रति-संवेदनशील होता है।

कागी ग्राफ कीमतों में उतार-चढ़ाव को दर्शाने का एक तरीका है। इस अर्थ में, यह मूलभूत रूप से जापानी कैंडलस्टिक्स, क्षेत्र, हाइकेन आशी, या बार

कागी की विशेषता यह है कि इसमें समय अक्ष (अवधि) नहीं है क्योंकि यह समय अवधि से सम्बन्ध नहीं रखता है। इसके बजाय, यह अपने पिछले प्रदर्शन के मुकाबले कीमत की गतिशीलता में बदलाव को दर्शाता है।

सामान्य चार्ट प्रकार आपको आपके द्वारा चुनी गई प्रत्येक अवधि के लिए एक नई कैंडलस्टिक दिखाएंगे समय अवधि। हालांकि, यह संकेत नहीं देता है कि सभी प्रस्तुत सैंडलस्टिक्स कैसे संबंधित हैं यदि वे यदि हैं, या यदि वे सम्बंधित हैं तो वे ट्रेंड्स में कैसे होते हैं।

ट्रेंड्स और ट्रेंड रिवर्सल की पहचान करना चार्ट देखने का मूल तात्पर्य है जो आपके ट्रेडिंग निर्णयों का मार्गदर्शन करता है, जो सामान्य चार्ट प्रकारों के मामले में आपकी समझ के ऊपर छोड़ दिया जाता है। कई ट्रेडर को यह प्रक्रिया कष्टकर और समय लेने वाली लगती है। इसलिए वे मूल्य प्रदर्शन को बेहतर ढंग से समझने के लिए अतिरिक्त इंडिकेटर्स का उपयोग करते हैं।

इसके विपरीत, कागी चार्ट इसे बहुत आसान बना देता है।

समय के बजाय, कागी चार्ट ट्रेंड-प्रति-संवेदनशील होता है। यह उन मूल्य गतिविधियों को प्रस्तुत करता है जो पिछले मूल्य प्रदर्शन के संदर्भ में प्रभावशाली हैं। ऐसा करने से, यह आपको आसानी से मूल्य की गतिशीलता दिखाता है जिसे अन्यथा आपको सामान्य चार्ट प्रकारों के साथ समझने की आवश्यकता पड़ती है। इससे समय और ऊर्जा की बचत होती है और कीमत के उतार-चढ़ाव को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है।


कागी चार्ट पठन के उदाहरण

इन-ट्रेंड रिवर्सल

एक वर्टिकल (खड़ी) रेखा, कोई बदलाव नहीं

जैसा कि आप देख सकते हैं, यह केवल एक वर्टीकल (खड़ी) रेखा है। इस रेखा को हर बार नीचे की ओर बढ़ाया जाएगा, जब दाईं ओर की कीमत पिछले क्लोज़र (समाप्ति) की तुलना में कम होगी।

उदाहरण के लिए, दाईं ओर लगातार तीन मंदी (बेयरिश) के कैंडल्स रखने के बजाय, आप देखेंगे कि आपकी वर्टीकल रेखा बाईं ओर तीन बार निचे विस्तारित हुई है।

Tदो प्रमुख इनपुट, तीन परिदृश्य

जिस अवधि में कागी प्रणाली हर बार मूल्य गतिविधि की जांच करती है, वह वही इनपुट है जिसे आप कागी चार्ट को कॉन्फ़िगर करते समय निर्धारित करते हैं। इस अर्थ में, यह सामान्य चार्ट प्रकारों में समय अवधि के समान है।

यदि कीमत पलट जाती है, तो कागी प्रणाली यह जांचती है कि क्या यह पिछली अवधि के बंद होने के मुकाबले कुछ एक निश्चित प्रतिशत से अधिक बंद हो गई है। कागी चार्ट में यह प्रतिशत एक और महत्वपूर्ण इनपुट है।

इसलिए, यदि रिवर्सल उस प्रतिशत से अधिक है, तो आपके पास एक हॉरिजॉन्टल भुजा द्वारा पिछली वाली से जुड़ी एक नई वर्टीकल रेखा होगी। यदि यह कम है, तो रेखा अपरिवर्तित रहती है।

इसलिए हमारे पास कागी चार्ट निर्माण के तीन परिदृश्य उपलब्ध हैं।

  1. जब भी कीमत एक ही दिशा में चलती है और प्रीसेट (पूर्व-निर्धारित) प्रतिशत को पार कर जाती है तो वर्टिकल रेखा बढ़ जाती है।
  2. यदि नई अवधि की कीमत पूर्व-निर्धारित प्रतिशत से नीचे या पिछले के अनुरूप चलती रहती है तो वर्टीकल रेखा अपरिवर्तित रहती है।
  3. यदि कीमत पलट जाती है और पिछली अवधि की दिशा के अनुरूप पूर्व-निर्धारित प्रतिशत से अधिक बंद हो जाती है तो एक नई वर्टीकल रेखा बन जाती है।

नई वर्टीकल रेखा

दाहिने तर्फ के कैंडलस्टिक चार्ट पर, अंतिम बुलिश कैंडलस्टिक पिछले कैंडल के बंद होने की तुलना में ज़रूरी प्रतिशत से अधिक बंद हुआ। बाईं ओर के कागी चार्ट पर, यह एक नई वर्टीकल रेखा द्वारा प्रतिबिंबित (मुड़) हुआ था। इस तरह कागी ग्राफ द्वारा इन-ट्रेंड रिवर्सल को दर्शाया गया है।

ट्रेंड रिवर्सल

रेखा की एक अलग मोटाई द्वारा कागी चार्ट पर बड़े ट्रेंड परिवर्तन दर्शाए जा सकते हैं।

कागी चार्ट का प्रकार ट्रेंड रिवर्सल को इंगित करने के लिए रेखा की मोटाई के बजाय रंगों का उपयोग करता है।

जब भी रेखा की मोटाई में कोई बदलाव होता है, तो ट्रेंड रिवर्सल होता है। इस तरह के बिंदु को आम तौर पर एक अनुकूल बाजार प्रवेश संकेत के रूप में लिया जाता है।

नीचे दी गई तस्वीर में, आप लाल रंग में नीचे की ओर के ट्रेंड और हरे रंग में ऊपर की ओर के ट्रेंड देख सकते हैं। इसके अनुरूप, रंग में बदलाव वाले बिंदु बाजार में प्रवेश के व्यक्त संकेत हैं।


बाजार में प्रवेश करने का सबसे अच्छा तरीका

कागी चार्ट एक अपरंपरागत साधन है, लेकिन हमने सीखा है कि यह ट्रेडरों को ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट्स की कीमत की गतिशीलता को बेहतर ढंग से समझने में मदद कर सकता है या कम से कम, सामान्य चार्ट प्रकारों के बदले एक दिलचस्प विकल्प प्रदान कर सकता है।

आखिरकार, बाजार में प्रवेश करने का सबसे अच्छा तरीका विभिन्न चार्ट और ट्रेडिंग रणनीतियों को संयोजित करना है, जो आपको सबसे अच्छी सेवा प्रदान करते हैं। इस बीच, तकनीकी विश्लेषण के साधन और बाजार के बारे में अपने ज्ञान का विस्तार करना हमेशा एक यथोचित समय-निवेश होता है।

Olymp Trade का उद्देश्य एक उत्पादक शिक्षण माहौल तैयार करना है जो आपको अपने सभी लक्ष्यों तक पहुँचने में मदद करता है। सीखने के लिए उपलब्ध कई साधनों में से एक है, कागी चार्ट, और Olymp Trade ब्लॉग आपको उनके बारे में विस्तृत ढंग से ज्ञान प्रदान करते हुए खुश है।

आप Olymp Trade प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध सहायता खंड में भी शैक्षिक सामग्री की एक बड़ी श्रृंखला प्राप्त कर सकते हैं।

सहायता खंड

जोखिम चेतावनी: लेख की सामग्री में निवेश की सलाह निहित नहीं है और आप अपनी ट्रेडिंग गतिविधि और/या ट्रेडिंग के परिणामों के लिए पूरी तरह से स्वयं जिम्मेदार हैं।

Education