Skip to content

भारतीय गर्मी की लहर से वैश्विक गेहूं की कीमतें प्रभावित हुई हैं 24.05.2022

इस साप्ताहिक समीक्षा में, हम जलवायु परिवर्तन के कारण गेहूं की बढ़ती कीमतों के प्रभाव और इसका उपयोग फ्यूचर्स और ऑप्शंस में ट्रेडिंग और स्टॉक खरीदने से लाभ के अवसर का विश्लेषण करेंगे।

विषय-वस्तु:

  • भारत में गर्मी की लहर वैश्विक गेहूं की कीमतों को कैसे प्रभावित करती है?
  • गेहूं की बढ़ती कीमतों से हमें कैसे फायदा हो सकता है?
  • गेहूं की बढ़ती कीमतों के लिए कौन से स्टॉक एक बेहतरीन दांव हो सकते हैं?

प्रिय ट्रेडर, आप चार्ट पर चिह्नित शब्दों और निश्चित स्थान द्वारा ब्लॉग के टेक्स्ट के साथ अंतर्क्रिया कर सकते हैं।

डैश किया हुआ नीले रंग का शब्द पर टैप करने से आपको इसकी परिभाषा या स्पष्टीकरण दिखाई देगा।

चार्ट या इमेज पर हरे रंग के बिंदु पर दबाने से आपको दृश्यात्मक स्वरूप में अतिरिक्त विवरण मिलेगा।

वैश्विक गेहूं की कीमतों पर भारत में गर्मी की लहर का प्रभाव

भारत में बढ़ती गर्मी की लहरों से वैश्विक गेहूं की कीमतों को बढ़ावा मिलेगा। चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक देश है। पिछले 122 सालों में इस बार की गर्मी देश के लिए सबसे गर्म वर्ष है। गर्मी की लहर के दौरान, कई आर्थिक क्षेत्रों में श्रमिक उत्पादकता में कमी देखी गई है। यह विशेष रूप से कृषि क्षेत्र में है। वैश्विक स्तर पर, हर साल कुल कार्य समय का 2% गवांने का अनुमान है क्योंकि इस समय काम करने के लिए बहुत गर्मी होती है या श्रमिकों को धीमी गति से काम करना पड़ता है। इसलिए, उच्च तापमान गेहूँ पैदावार को सिमित करती है। 23 डिग्री सेल्सियस के औसत तापमान से प्रत्येक एक डिग्री सेल्सियस की वृद्धि से गेहूं की पैदावार में औसतन 10% की कमी आती है।

अन्य कारक भी हैं, जैसे सूखा और गर्मियों में पानी की आपूर्ति की कमी जो कम पानी के भंडार के कारण होती है। चूंकि गेहूं का उत्पादन मुश्किलों का सामना कर रहा है, इसलिए बाजार में गेहूं की आपूर्ति कम होगी। नतीजतन, दुनिया भर में गेहूं की कीमतों में वृद्धि की संभावना है। घरेलू मांग को पूरा करने के इरादे से भारत ने गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। इस बीच, रूस-यूक्रेन संघर्ष के कारण गेहूं की कीमतें पहले से ही आसमान छु रही थीं। इसलिए, इस तरह के निर्णय से वैश्विक गेहूं की कीमतों में और वृद्धि होने की संभावना है।

भारत में औसत गर्मी का अधिकतम और न्यूनतम तापमान - Olymp Trade - विशेषज्ञ समीक्षा – 24.05.2022
चित्र 1. भारत में औसत गर्मी का अधिकतम और न्यूनतम तापमान
वर्ष के अनुसार भारत में गेहूं का उत्पादन - Olymp Trade - विशेषज्ञ समीक्षा - 24.05.2022
चित्र 2. वर्ष के अनुसार भारत में गेहूं का उत्पादन

गेहूं की बढ़ती कीमतों से आप कैसे लाभ प्राप्त कर सकते हैं?

कमोडिटी एक्सचेंजों में गेहूं का ट्रेड करना लाभदायक हो सकता है। ऐसा करने का एक तरीका गेहूं की कीमतों पर नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज लिमिटेड में कारोबार करना है। दूसरा कॉल ऑप्शन खरीदना है या पुट ऑप्शन बेचना है और गेहूं पर फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट (अनुबंध) खरीदना है। यदि गेहूं की कीमत बढ़ती है तो इन सभी परिदृश्यों से लाभ होने की संभावना है। कमोडिटी फ्यूचर्स और ऑप्शंस में ट्रेडिंग करना स्टॉक या इंडेक्स फ्यूचर्स और ऑप्शंस में ट्रेडिंग करने के समान हैं। नीचे दिए गए गेहूं के फ्यूचर्स चार्ट पर, कीमत एक अपट्रेंड में स्थित है और भविष्य में 1425.00 के उच्च स्तर को पुनः प्राप्त कर सकती है।

ITC लिमिटेड का स्टॉक मूल्य चार्ट - Olymp Trade - विशेषज्ञ समीक्षा - 24.05.2022
चित्र 3. गेहूं का फ्यूचर्स चार्ट

गेहूं की बढ़ती कीमतों में ट्रेड करने के लिए सर्वश्रेष्ठ स्टॉक

ITC बाजार को मात दे सकती है। FMCG दिग्गज ITC आशीर्वाद आटा ब्रांड के तहत गेहूं का उत्पादन करता है, जो भारत में अपने उच्च गुणवत्ता के लिए प्रसिद्ध है। जब कम आपूर्ति के कारण गेहूं की कीमतें बढ़ती हैं, तो ITC को गेहूं की उच्च मांग से लाभ होने की संभावना है। इससे कंपनी की लाभप्रदता में सुधार हो सकता है। निम्न चार्ट पर, ITC के शेयर की कीमत एक मजबूत अपट्रेंड में है। यह 200-EMA से ऊपर कारोबार कर रहा है, यह 310.00-320.00 की सीमा तक पहुंचने के लिए ऊपर जा सकता है।

गेहूं का फ्यूचर्स चार्ट - Olymp Trade - विशेषज्ञ समीक्षा - 24.05.2022
चित्र 4. ITC लिमिटेड का स्टॉक मूल्य चार्ट

जोखिम चेतावनी: लेख की सामग्री में निवेश की सलाह निहित नहीं है और आप अपनी ट्रेडिंग गतिविधि और/या ट्रेडिंग के परिणामों के लिए पूरी तरह से स्वयं जिम्मेदार हैं।

Stocks